Deepak-Ramola-in-Kalam-Bilaspur

Deepak Ramola

4th April 2020

भाषा को धर्म से जोड़ना गलत, यह सिर्फ संवाद का माध्यम हैः दीपक रमोला

कलम बिलासपुर के ऑनलाइन सेशन में युवा लेखक, गीतकार दीपक रमोला ने भाग लिया और साहित्य प्रेमियों से बातचीत की। श्री सीमेंट द्वारा प्रस्तुत, प्रभा खेतान फाउंडेशन, अभिकल्प फाउंडेशन, नई दुनिया और एहसास वूमन बिलासपुर के संयुक्त प्रयास से आयोजित होने वाले कलम श्रृंखला की छठीं कड़ी का आयोजन किया गया। कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते पूरे देश में लॉक डाउन की स्थिति है इस वजह से यह सत्र फेसबुक लाइव के माध्यम से ऑनलाइन आय़ोजित किया गया। दर्शक के रूप में बिलासपुर शहर के साहित्य प्रेमियों ने हिस्सा लिया और युवा गीतकार दीपक रमोला से अपने सवाल पूछे।

फिल्मी गीतों के बारे में बात करते हुए दीपक ने कहा कि बाजार के इस युग में फिल्मों में अलग अलग तरह क गीत लिखे जा रहे हैं, कई गीतों के स्तर गिरने की बात जरूर सामने आती है। लेकिन आज भी बहुत ही मौलिक और सुंदर गीत लिखे जा रहे हैं। इरशाल कामिल, वरूण ग्रोवर, मनोज मुंतशिर जैसे लेखकों का नाम लेते हुए दीपक ने कहा कि ये सब बहुत अच्छा लिख रहे हैं।

सत्र के आखिर में उन्होंने प्रभा खेतान फाउंडेशन को धन्यवाद देते हुए. अभिकल्प फाउंडेशन के संस्थापक गौरव गिरिजा शुक्ला के प्रति आभार व्यक्त किया। साथ ही उन्होंने बिलासपुर की जनता को भी शुक्रिया अदा किया कि उन्होंने बहुत ही प्यार से सत्र में भाग लिया। दीपक ने कहा कि वो बहुत जल्द बिलासपुर आकर लोगों से मुखातिब होना पसंद करेंगे।

कविता उन्होंने सुनाई लाइव- कांच की तरह काँच की तरह रिश्ता टूटा नहीं था हमारा बस उसके सिरे खुल गए थे, ढ़ूंढ़ते रहे दरारें, मैं चटकने की आवाज करती रही याद, तुमने फेरे हाथ कई बार खतों पर जो हमने एक दूसरे को लिखे थे ये सोचकर की चूर-चूर रिश्ते के नुकिले किसी टुकड़े से हाथ लगेगा तो खून बहेगा और सब साबित हो जाएगा पर तुम्हें तो खरोच तक नहीं आई काँच की तरह रिश्ता टूटा नहीं था हमारा मैं न कहती थी काँच की तरह रिश्ता टूटा नहीं था हमारा बस उसके सिरे खुल गए थे, जैसे खुल जाते हैं रोशनी के रात से और सिरे तो फिर जुड़ जाते हैं हाँ मगर मंजूरी तो लाजमी होती है इसमें दोनों सिरों की मेरी थी तुम्हारी नहीं काँच की तरह रिश्ता टूटा नहीं था हमारा बस उसके सिरे खुल गए थे, और सिरे तो फिर जुड़ जाते हैं...

Pictures

Aradhna-Sharma
Dinesh-Chaturvedi
Ananya-Sharma
Garima-Tiwari-Ehsaas-Woman-Bilaspur-1

Media Coverage

Video