जिस धरती पर पतितपावनी गंगा की निर्मल धारा बहती है और जो टैगोर, गंगाधर मेहेर, नागार्जुन जैसे कवियों की भूमि है, वहाँ साहित्य लोगों की जीवनशैली का एक अनिवार्य अंग हैI भाषा एवं साहित्य की समृद्धशाली परंपरा से सुसंपन्न भारत का पूर्वी क्षेत्र हमेशा से लेखकों और कवियों के लिये मंथन, मनन एवं अभिव्यक्ति की भूमि प्रदान करता रहा है, जहाँ कवियों ने अपनी गीतात्मक संवेदनशीलता से विश्व को चमत्कृत एवं प्रभावित किया हैI कलम बिहार, झारखंड, ओड़िशा और पश्चिम बंगाल इन चारों राज्यों की राजधानियों में इस वैभवशाली विरासत का उत्सव मनाता आ रहा हैI
Bhubaneswar

Bhubaneswar

Kolkata

Kolkata

Patna

Patna

Ranchi

Ranchi