फरहत शहजाद

    फरहत शहजाद एक कवि और गीतकार हैं। उन्होंने 1983 में एल्बम "केहना उसे" से प्रसिद्धि पाई जिसमें उस्ताद मेहदी हस्सन द्वारा गाए गए नौ गज़ल शामिल हैंं। शहजाद की कविता को जगजीत सिंह, गुलाम अली, आबिदा परवीन, हरिहरन, लता मंगेशकर और कई दिग्गज ग़ज़ल गायकों ने गाया है। शहज़ाद ने हस्सन और मंगेशकर द्वारा गाया एकमात्र युगल गीत भी लिखा है।उनकी प्रकाशित रचनाओं में उर्दू काव्य पुस्तकें - "मत सोचा कर", "आड़ी तिरछी चंद लकीरें", "आईना झूठा है", "सुन पाओ अगर" और "गुलरत" शामिल हैं। उनकी पहली पाँच पुस्तकों में से ग़ज़लों और नज़्मों का चयन देवनागरी में किया गया है। शहज़ाद को साहिर लुधयानवी पुरुस्कार और कई पुरस्कार से नवाज़ा गया है।

    COMING SOON