इरशाद कामिल

    इरशाद कामिल गीतकारी के सुल्तान हैं। उनके गीतों में न सिर्फ़ शब्द ज़िंदा होते हैं बल्कि उनके एहसासों की कोमलता और विचारों की गहराई भी सुनने वालों के साथ नाज़ुक सा रिश्ताबना लेती है। इरशाद के ख़्यालों की दुनिया में रोमानियत का रंग शरारती भी हैं, सूफियाना भी। उनकी क़लम कभी रहस्य खोलती है कभी रिश्तों की सच्चाई। 'ज़ीरो', 'टाईगर ज़िंदा है', ‘जब हैरी मैट सेजल’, ‘सुल्तान’, ‘तमाशा’, ‘आशिक़ी-2’, ‘हाईवे’, ‘रॉकस्टार’, ‘जब वी मैट’ आदि के गीत उनकी क़लमकारी का बेहतरीन नमूना पेश करते हैं। तीन बार फिल्म फेयरजीत चुके इरशाद कामिल की चार किताबें भी पाठकों ने बहुत पसंद की हैं।

    Sessions

    Amritsar

    Amritsar

    ahmedabad

    Ahmedabad

    chandigarh

    Chandigarh

    bengaluru

    Bengaluru

    hyderabad

    Hyderabad